अंतर-मंत्रालयी अनुमोदन समिति (IMAC) की बैठक में हुए कई अहम फैसले

Delhi: केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने वीडियो कॉन्फ्रेंस (वीसी) के माध्यम से अंतर-मंत्रालयी अनुमोदन समिति (IMAC) की बैठक में हिस्सेदारी करते हुए खाद्य प्रसंस्करण से सम्बन्धित 7 क्लस्टर्स का अनुमोदन किया गया। केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 24 नवम्बर को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान योजना (पीएमकेएसवाई) की कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों  के निर्माण योजना के तहत प्राप्त प्रस्तावों पर विचार के लिए अंतर-मंत्रालयी अनुमोदन समिति बैठक की अध्यक्षता की । परियोजनाओं के प्रमोटरों ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भाग लिया।

कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों की स्थापना को प्रोत्साहित करने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना के अंतर्गत  03 मई 2017 को कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों की अवसंरचना के निर्माण योजना को अनुमोदित किया गया था। इस योजना का उद्देश्य उद्यमियों को क्लस्टर दृष्टिकोण के आधार पर खाद्य प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए आधुनिक अवसंरचना का विकास करना है। ये क्लस्टर बचे हुई उपज की बर्बादी को कम करने और बागवानी / कृषि उपज के मूल्य इजाफे में मदद करेंगे जिसके परिणामस्वरूप किसानों की आय में वृद्धि होगी और स्थानीय स्तर पर रोजगार का सृजन होगा।

अंतर-मंत्रालयी अनुमोदन समिति ने मेघालय, गुजरात, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र, राज्यों में 234.68 करोड़ रुपये की कुल परियोजना लागत के साथ 7 कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों को मंजूरी दी है, जिसमें 60.87 करोड़ रुपये की अनुदान सहायता भी शामिल है। ये परियोजनाएँ 173.81 करोड़ रुपये के निजी निवेश लाएंगी और 7750 कामगारों के लिए रोजगार उत्पन्न होने की उम्मीद है।

पूरी स्टोरी पढ़िए